सोने से सजा होगा राम मंदिर का गर्भगृह, पटना के महावीर ट्रस्ट का प्रस्ताव

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए देश की कई संस्थाएं आगे बढ़कर मदद कर रही हैं. प्रस्तावित मंदिर में बनने वाले गर्भगृह को सोने से सुसज्जित करने के लिए पटना का महावीर मंदिर सामने आया है और मदद का ऐलान किया है.

केंद्र सरकार के द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाने के बाद हलचल तेज हो गई है. हर किसी की उम्मीद है कि अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर भव्य और दिव्य होगा. अयोध्या में प्रस्तावित इस मंदिर का गर्भगृह सोने से बना होगा, जो इसकी शोभा में चार चांद लगाने का काम करेगा. मंदिर को गर्भगृह को सोने से बनाने के लिए पटना का प्रसिद्ध महावीर मंदिर आगे आया है.

पटना की महावीर स्थान न्यास समिति के प्रमुख पूर्व आईपीएस अधिकारी आचार्य किशोर कुणाल का कहना है कि गर्भगृह में लगने वाला पूरा सोना ट्रस्ट की ओर से मुहैया कराया जाएगा. अभी प्रस्तावित मंदिर का गर्भगृह कैसा होगा, कितना बड़ा होगा इसका आकलन किया जा रहा है. अगर इसका मौका मिलेगा तो ट्रस्ट पूरी तरह से तैयार है.

आचार्य कुणाल के मुताबिक, इस प्रस्ताव पर अभी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के अधिकारियों से भी 19 फरवरी को बैठक की जाएगी. इसके अलावा विश्व हिंदू परिषद के अधिकारियों से भी बात जारी है.

मौका मिला तो करवाएंगे निर्माण!

अयोध्या में मौजूद आचार्य किशोर कुणाल ने आजतक को बताया कि दो करोड़ रुपए महावीर स्थान न्यास समिति मंदिर निर्माण के लिए दे रहा है. स्वर्ण सेवा के लिए ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र’ न्यास को मौका देगा तो गर्भगृह और इसके द्वार सहित सिंहासन भी स्वर्ण मणि रत्न जड़ित बनवाया जाएगा.

फिलहाल, इसके लिए दस करोड़ रुपए की धनराशि महावीर स्थान न्यास ने तय की है. जो दो करोड़ रुपये मंदिर निर्माण में सहयोग स्वरूप अर्पित किए जा रहे हैं वो इस स्वर्ण सेवा से अलग हैं. दस करोड़ रुपए की ये धनराशि अनुमान के आधार पर तय की गई है लेकिन इस रामकार्य के लिए धनराशि की कोई सीमा तय नहीं है.

भारतीय पुलिस सेवा छोड़कर पटना जंक्शन के बाहर श्री महावीर स्थान न्यास समिति बनाकर प्रसिद्ध महावीर मंदिर बनवाने वाले आचार्य किशोर कुणाल ने ये भी साफ किया कि इस धनराशि के लिए न्यास किसी प्रकार का चन्दा नहीं ले रहा है. ये धन न्यास के अपने कोष से अर्पित किया जाएगा.

न्यास भी चला रहा है अभियान

बता दें कि अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर को भव्य और दिव्य रूप देने के लिए श्रीराम जन्मभूमि पुनरुद्धार समिति, रामालय न्यास ने भी स्वर्ण आभूषणों के लिए देशव्यापी अभियान चलाया है. इन आभूषणों को रामलला की मूर्ति के लिए इस्तेमाल किया जाएगा.

समिति के उपाध्यक्ष स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि हमारी ओर से ‘एक ग्राम स्वर्ण दान’ अभियान चलाया जा रहा है. इस दौरान देश की हर पंचायत से अपील की जाएगी कि वह मंदिर के लिए एक-एक ग्राम सोना दान करें. इसके अलावा विश्व हिंदू परिषद की ओर से भी चंदे के लिए अभियान चलाने की बात कही गई है.

पीएम मोदी ने किया था ट्रस्ट का ऐलान

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का ऐलान किया था, इसके तुरंत बाद इसके सदस्यों का ऐलान कर दिया गया था. अयोध्या राजवंश के वारिस विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र को इसका ट्रस्टी बनाया गया है. उनके अलावा ट्रस्ट में कुल 15 सदस्य हैं, जिसमें एक दलित समुदाय से है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *