कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 900 के पार, चीन में 3062 नए मामले

चीन में बढ़ते मौत के आंकड़ों से पूरी दुनिया में दहशत है. वहां 31 प्रांतों में कोरोना ने पैर पसार लिए हैं. इनमें सबसे ज्यादा हुबेई प्रांत का वुहान शहर प्रभावित है. कोरोना वायरस यहीं से शुरू हुआ था. चीन में कोरोना से अबतक 908 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कन्फर्म केस की संख्या 40 हजार के पार पहुंच चुकी है. हालांकि हुबेई के बाहर लगातार छठे दिन कोरोना के कन्फर्म केस की संख्या में कमी आई है.

कोरोना से चीन में रविवार को 97 लोगों की मौत हो गई, जबकि 3,062 नए कन्फर्म केस सामने आए. समाचार एजेंसी पीटीआई ने चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के हवाले से बताया है कि अबतक कोरोना से 908 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना का केंद्र हुबेई हैं और वहां रविवार को सबसे ज्यादा 91 लोगों की मौत हुई. रविवार को कोरोना के 4,008 नए संदिग्ध केस सामने आए. 296 लोगों की हालत गंभीर बताई गई है. इस तरह अबतक कुल 6,484 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है., जबकि कुल संदिग्ध केस की संख्या 23, 589 है. कोरोना के कन्फर्म केस की संख्या 40,171 तक पहुंच गई है.

WHO की टीम जाएगी चीन

नेशनल हेल्थ कमीशन के मुताबिक हुबेई के बाहर कुल 444 नए कन्फर्म केस रविवार को सामने आए. इससे पहले हुबेई के बाहर सोमवार को 890, मंगलवार को 731, बुधवार को 707, गुरुवार को 696, शुक्रवार को 558 और शनिवार को 509 कन्फर्म केस सामने आए थे. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के डायरेक्टर जनरल ट्रेड्रॉस एडोनम ने बताया कि चीन से जवाब मिलने के बाद एक टीम चीन जाएगी. उम्मीद है कि विशेषज्ञों की यह टीम अगले सप्ताह के शुरू में चीन के लिए रवाना हो जाएगी.

पीएम मोदी ने की चीन को मदद की पेशकश

चीन में कोरोना वायरस के कारण हाहाकार मचा हुआ है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और चीन के लोगों से के साथ सहयोग की बात कही है. पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति को पत्र लिखकर भारत की ओर से सहायता की पेशकश की है. इसके साथ ही पीएम मोदी ने जानमाल के नुकसान के चलते शोक भी व्यक्त किया है. वहीं पीएम मोदी ने हुबेई प्रांत से भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए चीन सरकार की ओर से प्रदान की गई सुविधा के लिए भी सराहना की है.

चीन के दल की गोवा यात्रा रद्द

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए गोवा आने वाले चीनी प्रतिनिधिमंडल की यात्रा को स्थगित किया गया है. पर्यटन उद्योग से जुड़े दिग्गजों ने चीनी डेलिगेशन की यात्रा को रोके जाने का फैसला लिया गया है. सिर्फ ऐसा नहीं है कि गोवा आने वाले चीनी प्रतिनिधिमंडल के दौरे को स्थगित किया गया है बल्कि कोरोना के कारण सूरत के हीरा कारोबार को भी बड़े पैमाने पर नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *