निर्भया के दोषियों की सजा में हुई देरी पर भड़कीं प्रीति जिंटा, सरकार से की ये अपील

निर्भया के दोषियों फांसी जरूर मिली है लेकिन न्यायपालिका और सरकार के रवैये पर जरूर सवाल खड़े होते हैं. प्रीति जिंटा ने इसी दिशा में अपनी आवाज बुलंद की है.

देश की बेटी निर्भया को इंसाफ मिल गया है. पूरे आठ साल बाद निर्भया की मां की आंखों में खुशी के आंसू देखे गए. पूरे देश में खुशी की लहर महसूस की गई. जो-जो इस जन आंदोलन से जुड़ा था, सभी के लिए आज का दिन ऐतिहासिक और संतुष्टि का है. इंसाफ तो मिला लेकिन देर से. न्याय देखने को तो मिला लेकिन कड़े संघर्ष के बाद. ये बात निर्भया की मां को भी खटकी और देशवासियों को भी. अब बॉलीवुड ने भी ये मुद्दा उठाया है.

प्रीति जिंटा का दिखा आक्रोश

एक्ट्रेस प्रीति जिंटा ने निर्भया के दोषियों को हुई फांसी पर तो खुशी जाहिर की है लेकिन इस बात का गुस्सा भी है कि न्याय काफी देर से मिला. उन्होंने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है जिस में उनका गुस्सा, आक्रोश साफ महसूस किया जा सकता है. प्रीति जिंटा ट्वीट करती हैं- अगर निर्भया के दोषियों को 2012 में ही फांसी दे दी जाती तो महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों में कमी देखने को मिलती. कानून का डर लोगों के अंदर देखने को मिलता. अब समय आ गया है कि भारत सरकार इस दिशा में कुछ कड़े कदम उठाए.

वैसे प्रीतिं जिंटा को इस बात की खुशी है कि आठ साल बाद ही सही, लेकिन निर्भया को न्याय मिला है. वो अपने ट्वीट में लिखती हैं- निर्भया को जल्दी न्याय मिलता तो बेहतर होता लेकिन फिर भी मैं खुश हूं. अब निर्भया और उनकी मां को शांति मिली है

रितेश ने कड़े कानून की वकालत

बता दें, एक्टर रितेश देशमुख ने भी कुछ ऐसी ही प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने एक तरफ फांसी मिलने पर खुशी जाहिर की है तो वहीं दूसरी तरफ कड़े कानून होने की वकालत. उन्होंने ट्वीट कर अपने विचार रखे हैं- रितेश लिखते हैं- कड़े कानून, कड़ी सजा और न्यायपालिका का तेजी से फैसला लेना जरूरी है क्योंकि तभी उन राक्षसों में खौफ पैदा होगा जो ऐसी बर्बरता को अंजाम देते हैं.

खैर देर से ही सही देश के सबसे बड़े मामले में सबसे बड़ा न्याय देखने को मिला है. निर्भया के दोषियों को फांसी के फंदे पर लटका दिया गया है. उन्हें आज सुबह 5.30 बजे तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *